पीरियड्स के दर्द में आराम दिलाएं ये घरेलू उपाय

Share :
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

बदलती जीवनशैली, प्रदूषण और खानपान में बदलाव की वजह से अक्सर महिलाओं में पीरियड्स

के दिनों में बहुत अधिक दर्द की समस्या आज बेहद आम है। भले ही इस तकलीफ से तुरंत आराम

के लिए पेन किलर दवाओं के विकल्प होते हैं पर कई बार महिलाएं डॉक्टरी परामर्श से इन दवाओं

के लेने में हिचकिचाती हैं।

पीरियड्स के दर्द में आराम दिलाएं ये घरेलू उपाय

पीरियड्स में होने वाली समस्याएं

महिलाओं के लिए पीरियड्स का समय आसान नहीं होता, बल्कि पीरियड्स आने के कुछ दिन

पहले से ही उन्हें पीरियड्स के कुछ लक्षण नज़र आने लगते हैं। इनमें से कुछ इस प्रकार हैं :

  1. भूख न लगना या बहुत ज़्यादा भूख लगना – कुछ महिलाओं को पीरियड्स के पहले या पीरियड्स के दौरान बहुत ज़्यादा भूख लगती है या बाहर की चीज़ें व मीठा खाने की तीव्र इच्छा होती है। वहीं, कुछ महिलाओं की खाने की इच्छा बिल्कुल ख़त्म हो जाती है।
  2. मूड स्विंग्स होना – पीरियड्स के पहले महिलाओं के व्यवहार में भी काफी परिवर्तन होता है। कई महिलाएं काफ़ी चिड़चिड़ी हो जाती हैं या बहुत ज़्यादा भावुक हो जाती हैं।
  3. शरीर का अतिसंवेदनशील हो जाना – पीरियड्स के पहले हॉर्मोन बदलने के कारण शरीर काफ़ी संवेदनशील हो जाता है। कुछ महिलाओं को स्तनों में दर्द की शिकायत होती है।

पीरियड्स (मासिक धर्म) लाने के घरेलू उपाय

अजवाइन

अक्सर पीरियड्स के दौरान महिलाओं में गैस्ट्रिक की समस्या बढ़ जाती है जिसकी वजह से भी पेट

में तेज दर्द होता है। अजवाइन का सेवन इससे निपटने में बेहद कारगर है। आधा चम्मच अज्वाइन

और आधा चम्मच नमक को मिलाकर गुनगुने पानी के साथ पीने से दर्द से तुरंत राहत मिल सकती

है। इसके अलावा, पीरियड्स के दिनों में अज्वाइन को चुकंदर, गाजर और खीरे के साथ जूस

बनाकर पीने से भी दर्द नहीं होता।

अदरक

पीरियड्स में दर्द के दौरान अदरक का सेवन भी तुरंत राहत पहुंचाता है। एक कप पानी में अदरक

के टुकड़े को बारीक काटकर उबाल लें। चाहें तो इसमें स्वादानुसार शक्कर भी मिलाएं। दिन में तीन

बार भोजन के बाद इसका सेवन करें। 

पपीता

कई बार पीरियट्स के दौरान फ्लो ठीक तरीके से न हो पाने के कारण भी महलिओं को अधिक दर्द

होता है। ऐसै में पपीते का सेवन एक बेहतरीन विकल्प है। इसके सेवन से पीरियड्स के दौरान फ्लो

ठीक संतुलित तरीके से होता है जिससे दर्द नहीं होता। 

तुलसी

तुलसी एक बेहतरीन नैचुरल पेन किलर है जिसे पीरियड्स के दर्द में बेझिझक ले सकते हैं। इसमें

मौजूद कैफीक एसिड दर्द में आराम पहुंचाता है। ऐसे में दर्द के समय तुलसी के पत्ते को चाय में

मिलाकर पीने से भी आराम मिलता है। अधिक परेशानी हो तो आधा कप पानी में तुलसी के 7-8 पत्ते

डालकर उबालें और छानकर उसका सेवन करें।

problems faced by womens during menstural cycle

सौंफ

एक चम्मच सौंफ, चार कप पानी एक बर्तन में पानी और सौंफ डालकर उसे पांच से दस मिनट तक

उबालें। फिर इसे छानकर पानी को ठंडा कर लें। इस मिश्रण को दिन भर में थोड़ी-थोड़ी देर बाद

पिएं।

सौंफ मासिक धर्म को जल्दी लाने में मदद करता है। यह गर्भाशय में संकुचन पैदा कर मासिक धर्म

को सही समय पर होने के लिए प्रेरित करता है। इसके अलावा यह मासिक धर्म के दौरान होने वाले

दर्द को भी कम कर सकता है। 

menstral problems faced by womens

मैथी के दाने

मैथी के दानों को पानी में उबाल कर पीएं। इस उपाय को कई विशेषज्ञों ने भी रिकमेंड किया है।


Share :
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *