नर्वस सिस्टम को मजबूत बनाने के उपाय

Share :
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

नर्वस सिस्टम हमारी भावनाओं से जुड़ी होती हैं, और कई बार ये बेकाबू हो जाती हैं। इसके कारण

मन विचलित हो जाता है और यह दिमाग को सबसे अधिक प्रभावित करता है। नर्व्‍स सिस्‍टम के

अशांतहोने के कारण तनाव, क्रोध, दिल की धड़कन का बढ़ना जैसी समस्‍यायें होने लगती हैं।

इसलिए शरीर को ठीक तरह से काम करने के लिए इसे शांत करना बहुत जरूरी है।

nervous system upay

कमजोर तंत्रिका तंत्र के लिये घरेलू उपचार

चॉकलेट खायें

एक क्‍यूब चॉकलेट (लगभग 40 ग्राम) खाने से केवल 5 मिनट में ही तंत्रिका तंत्र शांत हो जाता है।

डार्क चॉकलेट का सेवन करने की कोशिश करें। यह न केवल हार्मोन को नियमित करता है बल्कि

मेटाबॉलिज्‍म को भी सुचारु करता है जिससे नर्वस‍ सिस्‍टम सही तरीके से काम करता है।

हरी-पत्तेदार सब्जियां

हरी-पत्तेदार सब्जियों में विटामिन बी कॉम्पलैक्स, विटामिन सी, ई और मैगनिशियम भी होता है जो

कि हमारे दिमाग के काम करने के लिए बेहद जरूरी है। विटामिन बी से न्यूरोट्रांसमीर्टस अच्छी

तरह से काम करते हैं। वहीं मैगनिशियम से नर्व्स सही रहती हैं। विटामिन सी और ई नर्वस सिस्टम

के लिए एंटी-एजिंग ट्रीटमेंट का काम करता है। 


Also, Read चीनी खाने के भयंकर नुकसान


ग्रीन टी

ग्रीन टी के कई फायदे हैं, नियमित 3 से 4 कप ग्रीन टी का सेवन करने से स्‍वास्‍थ्‍य की सभी प्रकार

की समस्‍यायें दूर होती हैं। दरअसल ग्रीन टी एल-थियेनाइन नामक केमिकल पाया जाता है जो गुस्‍से

पर काबू पाकर तंत्रिका तंत्र को शांत करता है।

नर्वस सिस्टम

नट्स

 एक अध्ययन के मुताबिक हमारे दिमाग को दुरूस्त रखने में नट्स काफी महत्वपूर्ण हैं। इनमें

ओमेगा 3 और कई फैटी एसिड्स पाए जाते हैं। मूंगफली, काजू, बादाम, पिस्ता आदि खाने से

दिमाग फुर्ती से काम करता है। 

गहरी सांसें लें

अगर आप काम कर रहे हैं और आपका तंत्रिका तंत्र अशांत हो गया है तो कुछ देर सामान्‍य स्थिति

में बैठें। लंबी और गहरी सांसें लीजिए, इससे ब्‍लड प्रेशर और दिल की धड़कन सामान्‍य हो जायेगी।

अगर आप सुबह के वक्‍त प्राणायाम करते हैं तो इस तरह की समस्‍या आने की संभावना कम होती

है।

tantrica tantra majboot bane

कद्दू के बीज

कद्दू के बीजों में अच्छी मात्रा में मैगनिशियम, तांबा और जिंक पाया जाता है। मैगनिशियम की

कमी से ब्रेन में माइग्रेन, डिप्रेशन,एपीलेप्सी जैसी समस्याएं होती हैं। नर्व सिंग्नल को कंट्रोल करने के

लिए हमारा ब्रेन तांबे का इस्तेमाल करता है। जब तांबे की मात्रा दिमाग में कम हो जाती है तो हम

अल्जाइमर के शिकार होने लगते हैं और जल्दी-जल्दी चीजें भूल जाते हैं। जिंक भी नर्व सिग्नल के

लिए जरूरी है। 


Also Read: International Yoga Day 2019



Share :
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *