कौंच के बीज के फायदे और नुकसान

Share :
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

कौंच बीज (मुकुना प्रुरियंस) एक आयुर्वेदिक दवा है जिसे कपिकच्छु भी कहा

जाता है, जो पुरुष बांझपन और तंत्रिका विकारों के इलाज के लिए उपयोग की जाती है। इसका

उपयोग कामोद्दीपक औषधी (aphrodisiac) के रूप में भी किया जाता है। शुक्राणुता से लेकर

पार्किंसंस रोग तक के इलाज के लिए कौंच का उपयोग आयुर्वेद चिकित्सा प्रणाली में किया जाता है।

कौंच बीज को मखमली सेम (velvet bean) के रूप में भी जाना जाता है। कौंच बीज पुरुषों

की यौन शक्ति को बढ़ाने में फायदेमंद होती है।

कौंच के बीज के फायदे और नुकसान

कौंच के बीज सेक्स पावर बढ़ाने के लिए वरदान माने जाते हैं। इसके कुछ दिनों का सेवन करने से

ही कमजोरी, नामर्दी, ढीलापन और शीघ्रपतन जैसी समस्याएं बहुत जल्दी दूर होती है। इतना ही

नहीं बल्कि कौंच के बीजों का सेवन करने से पुरुष अधिक शक्तिशाली भी होते हैं। कौंच के बीजों

का सेवन मसल्स बढ़ाने और वजन बढ़ाने के लिए भी किया जाता है।

कैसे करें इस्तेमाल

कौंच बीजों का सेवन करने के लिए इन्हें कुछ देर दूध या पानी में भिगोएं उसके बाद इनका छिलका

उतार कर धूप में सुखा दें। सूखने के बाद बीजों को बारीक पीसकर चूर्ण बना लें। इसे रोजाना सुबह

और शाम को मिश्री या दूध के साथ लें। आप सेक्शुअली खुद को संतुष्ट महसूस करेंगे। कौंच के

बीजों के चूर्ण को दूध के साथ उबाल कर पीने से भी कमजोरी दूर होती है। कौंच के बीजों के साथ

उड़द की दाल, गेंहू, चावल और शतावरी को मिक्स कर दूध के साथ उबालें और इसे ठण्डा करके

रोज रात को सेवन करें।

शिलाजीत के फायदे, आयुर्वेदिक गुण व नुकसान

कौंच बीज के फायदे

टेस्‍टोस्‍टेरान को बढ़ाए

टेस्‍टोस्‍टेरोन उत्‍पादन पुरुषों और महिलाओं दोनों के लिए कामेच्‍छा और यौन प्रदर्शन में अहम

भूमिका निभाता है। पुरुषों की अपेक्षा महिलाओं में टेस्‍टोस्‍टेरोन का उत्‍पादन कम होता है।

टेस्‍टोस्‍टेरोन यौन संबंध और इच्‍छा के लिए महत्‍वपूर्ण हार्मोन होता है।

कौंच बीज पुरुष और महिलाओं के लिए कामोद्दीपक का काम करता है, क्‍योंकि इसमें प्रोलैक्टिन

नामक एक हार्मोन पाया जाता है। प्रोलैक्टिन प्रजनन, चयापचय और इंम्‍यूरेग्‍यूलेटरी कार्यों के लिए

फायदेमंद होता है। महिलाओं में टेस्‍टोस्‍टेरोन बहुत ही कम होती है लेकिन एस्‍ट्रोजन के कारण

इसकी मात्रा शरीर में बढ़ भी सकती है।

मांसपेशीयों के विकास में कौंच बीज के फायदे 

आपके शरीर में डोपोमाइन के स्तर को बढ़ाकर कर कौंच बीज मानव विकास हार्मोन के उत्पादन

को उत्तेजित करके मांसपेशीय द्रव्‍यमान को बढ़ाने में मदद करता है। डोपोमाइन शरीर के अंदर

एचजीएच के स्‍तर को बढ़ाने के लिए दिखाया गया है और मानव विकास हार्मोन प्रोटीन संश्‍लेषण

बढ़ाने के लिए जाना जाता है और मांसपेशियों की वृद्धि को प्रोत्‍साहित करने में मदद करता है।

कौंच बीज को बढ़ती उम्र हार्मोन के रूप में भी जाना जाता है। इसमें उपस्थित एचजीएच वसा को

जलाता है और यौन प्रदर्शन को बढ़ाता है। यह हमारी त्‍वचा की सुंदरता और बनावट को सुधारने में

मदद करता है और आपके स्‍वास्‍थ्‍य के लिए कई अन्‍य सकारात्‍मक स्‍वास्‍थ्‍य लाभ प्रदान करता है।

कौंच पाक

कौंच पाक को अधिकतर सर्दियों में उपयोग करना चाहिए | इसे बनाने के लिए कौंच बीजो का

इस्तेमाल होता है | मर्दाना ताकत , नपुंसकता, धातु दुर्बलता, वीर्य में शुक्राणुओं की कमी, शीघ्रपतन

एवं शारीरिक दुर्बलता आदि में इसका सेवन करने से चमत्कारिक लाभ प्राप्त होंगे |

बाज़ार से इसे खरीदने से अच्छा है की आप इसे घर पर ही तैयार करले | इसे बनाने की विधि भी

आसान है और यह पूर्णतया लाभकारी होगी एवं बाज़ार में मिलने वाले कौंच पाक से बेहतर भी रहेगी

| इसके निर्माण के लिए निम्न सामग्री चाहिए –

कौंच बीज – 250 ग्राम

गाय का दूध – 4 किलो

गाय का घी – 500 ग्राम

अकरकरा चूर्ण – 5 ग्राम

रस सिन्दूर – 5 ग्राम

केसर – 3 ग्राम

विधि  सबसे पहले कौंच के बीजों को ऊपर बताई गई मात्रा में 8 से 10 घंटो के लिए भिगों दें ,

अच्छी तरह भीगने के बाद बीज के ऊपर के छिलके को हटा दें एवं बीजों को धूप में सुखा दें | जब

बीज अच्छी तरह सुख जाए तब इन्हें बारीक़ पीसकर चूर्ण बना ले | अब इस चूर्ण को दूध में

डालकरउबालें एवं इसका मावा तैयार कर ले |

kaunch beej ke laabh

कौंच के बीज अच्छी नींद के लिए

डोपामाइन मस्तिष्‍क की प्रक्रियाओं में एक महात्‍वपूर्ण भूमिका निभाता है जो नींद के सपनों से

संबंधित होता है। यह पीनियल गंथि पर कार्य करता है जो नींद होर्मोन मेलाटोनिन को उत्‍तपन्‍न

करता है। एक अध्‍ययन से पता चलता है कि मस्तिष्‍क में डोपामाइन के स्‍तर की कमी के कारण

नींद पूरी करने में अस्‍मर्थता होती है। यह भी माना जाता है कि डोपामाइन की कमी के साथ-साथ

तनाव और बेचैनी भी आपकी नींद को प्रभावित करते हैं।

कौंच बीज के पारउडर का उपयोग करने से अच्‍छी नींद आती है।

mardaana shakti badaane ke liye kaunch beej ke fayade

बांझपन को दूर करने में

पुरुष बांझपन को दूर करने के लिए कौंच बीज का उपयोग किया जाता है। कपिकच्छु टेस्टिकल्‍स

के कार्य को प्रोत्साहित कर पिट्यूटरी ग्रंथि के कार्य को सुधारने में मदद करते हैं, जिससे शरीर में

अधिक मात्रा में स्‍वस्‍थ्‍य और गतिशील शुक्राणुओं के उत्पादन को बढ़ावा मिलता है। यह जड़ी बूटी

स्‍वस्‍थ्‍य शुक्राणुओं को नुकसान और अवरोधो से बचाती है, ताकि शुक्राणुओं के स्वस्थ स्खलन से

गर्भधारण की संभावनाओं को बढ़ाया जा सके।


Also read: सफेद मूसली के चमत्कारपूर्ण स्वास्थ्य लाभ



Share :
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *