कान दर्द के घरेलू नुस्खे

Share :
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

कान दर्द के घरेलू नुस्खे-कान में होने वाला दर्द बहुत असहनीय होता है। इसके पीछे कई कारण

होते हैं जैसे कान पर चोट लग जाना या किसी प्रकार की समस्या आदि।

इनसे बचने के लिए घर पर ही कई ऐसी चीजें मौजूद होती हैं जो कान दर्द से निजात दिलाती हैं।

कान दर्द के घरेलू नुस्खे


कान में वैक्स जमा होना, सर्दी के कारण दर्द होना या फिर किसी प्रकार की एलर्जी हो जाना

या इंफेक्शन होना आम समस्या है, जो कई लोगों के साथ होती है।

लेकिन समय पर इलाज न होने पर यह समस्या बढ़ जाती है।

कान दर्द के घरेलू नुस्खे-आइए जानें कान दर्द के घरेलू नुस्खों के बारे में :

1.मेथी

पांच ग्राम मेथी के बीज एक बड़ा चम्मच तिल के तेल में गरम करें। इसे छानकर शीशी में भर लें।

हर रोज सुबह-शाम दो बूंद इसे कान में डालें। इसे कान पीप का उम्दा इलाज माना गया है।

2. यूकेलीप्टस का तेल

एक कटोरे में उबाला हुआ पानी लें,इसमें यूकेलीप्टस के तेल की कुछ बूंदें और एक चम्मच विक्स

मिला दें अब एक तौलिए से अपने सिर को अच्छी तरह से ढक लें और नाक से सांस के माध्यम से

वाष्प को जितना हो सके अन्दर खींचें,यह अन्दर के दबाव को कम कर कर्णस्राव को बाहर

निकालने में मदद करता है।

3. नमक से सिंकाई

कान दर्द के घरेलू नुस्खे

चार या पांच चम्मच नमक को सौस्पेन तबतक धीमी आंच पर भुनें जब तक की यह भूरे रंग का न हो

जाए ,अब इस गर्म किये हुए भुने नमक को एक साफ कपडे पर अच्छी तरह से लपेट लें और इसे

कान के प्रभावित हिस्से में  दो से पांच मिनट तक रखें आप सूजन और दर्द में आराम महसूस करेंगे।

कान दर्द के घरेलू नुस्खे

Also Read:- Missing AN-32: मिला मलबा


4. लहसुन

कान दर्द के घरेलू नुस्खे

कान दर्द

लहसुन की दो कलीयों को अच्छी तरह से पीस लें अब इसमें एक चुटकी नमक मिलाकर ऊनी

कपड़े से बनायी गयी पुल्टीस को दर्द वाले हिस्से के ऊपर रखें इससे दर्द में आराम मिलेगा।

लहसुन की कलियों को किसी कड़क वस्तु से दबाकर कुलचें और इसे एक कपड़े में लपेटकर

इसका रस सीधे कान के प्रभावित स्थाप पर डालें। इससे न केवल आपके कान का दर्द ठीक होगा बल्कि इंफेक्शन भी।

5. कान दर्द के घरेलू नुस्खे –प्याज का रस

प्याज का रस निकाल लें,अब रुई के फाये या किसी वूलेन कपडे के टुकडे को इस रस में डुबायें

अब इसे कान के ऊपर निचोड़ दें ,इससे कान में उत्पन्न सूजन,दर्द ,लालिमा एवं संक्रमण को कम

करने में मदद मिलती है।


Also Read:- गुजरात की तरफ चक्रवाती तूफान


Share :
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *