चिरौंजी के फायदे और नुकसान

Share :
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

चिरौंजी के फायदे और नुकसान -चिरौंजी तासीर में ठंडा होता है जिसे गर्मी के समय विशेष रूप

से खाने की सलाह दी जाती है। चिरौंजी जिसे कुछ लोग चार के रूप में जानते हैं शरीर को ठंड़ा

करने में मदद करता है और शरीर की जलन (burning sensation) को कम करता है। आप

त्‍वचा के दोषों को दूर करने के लिए चिरौंजी के तेल का उपयोग कर सकते हैं, यह तेल खुजली, दर्द

चकते और अन्‍य त्‍वचा संबंधित समस्‍याओं को दूर करने में मदद करता है। चिरौंजी के फायदे घावों

को ठीक करने, ग्रंथियों की सूजन अन्‍य समस्‍याओं का उपचार करने के लिए एंटिसेप्टिक के रूप में

भी उपयोग किया जाता है।

चिरौंजी के फायदे और नुकसान

चिरौंजी क बीजों सेवन आपको बहुत से स्‍वास्‍थ्‍य लाभ प्रदान करता है। चिरौंजी के फायदे कई

प्रकार से प्राप्‍त किये जा सकते हैं। 

फायदे और नुकसान :

चिरौंजी के फायदे और नुकसान

Also Read:- आतंक रोकने के लिए गृह मंत्रालय ने बनाया टेरर मॉनिटरिंग ग्रुप


चिरौंजी की छाल :-

चिरौंजी का पेड एक आयुर्वेदि उद्देश्‍यों को पूरा करने के लिए जाना जाता है। चिरौंजी के फायदे

केवल फलों से ही प्राप्‍त नहीं होते हैं बल्कि इस पेड़ की छाल का उपयोग भी आयुर्वेदिक उपचार के

लिए किया जाता है। चिरौंजी पेड़ की छाल में एंटीऑक्‍सीडेंट गुण अच्‍छी मात्रा में होते हैं जो विभिन्‍न

प्रकार के स्‍वास्‍थ्‍य लाभों को प्राप्‍त करने और स्‍वास्‍थ्‍य विकारों को दूर करने में मदद करते हैं।

चिरौंजी पेड़ की गोंद :-

दस्‍त और छाती के दर्द (diarrhea and chest pain) के इलाज के लिए चिरौंजी के पेड़ की गोंद

का उपयोग किया जाता है। इस गोंद को सामान्‍य रूप से दूध के साथ मिला कर उपयोग किया

जाता है जो संधिशोध (Arthritis) से जुड़े दर्द से भी राहत दिलाता है।

चिरौंजी की जड़ :-

इसकी जड़ों (चिरौंजी की जड़) से निकलने वाले रस का औषधीय उपयोग रक्‍त में होने वाले

संक्रमण और पाचन तंत्र के विकारों का इलाज करने के लिए किया जाता है। ये सभी

विकार यकृत या पित्‍ताशयाशय (liver or gall bladder) की विफलता का कारण बनता हैं।

चिरौंजी के फायदे और नुकसान -चिरौंजी फोर स्किन व्हाइटनिंग :-

स्‍वास्‍थ्‍य के लिए चिरौंजी के फायदे बहुत अधिक हैं, पर क्‍या आप आपनी त्‍वचा के लिए चिरौंजी के

फायदे जानते हैं। चिरौंजी एक ऐसा खाद्य फल हैं जो आपकी त्‍वचा को प्राकृतिक रूप से गोरा बना

सकता है। इसमें एंटीआक्‍सीडेंट (antioxidant) और एंटीइंफ्लामैट्री गुण अच्‍छी मात्रा में होते हैं जो

आपकी बढ़ती उम्र के लक्षणों को कम करने में आपकी मदद करते हैं।

चिरौंजी के फायदे और नुकसान

चिरौंजी के तेल:-

सूजन को कम करने के लिए चिरौंजी के तेल का उपयोग बहुत ही लाभकारी होता है। जब इस तेल

को बाहरी रूप से लगाया जाता है तो यह गर्दन में ग्रंथियों की सूजन को कम करने में मदद करता

है। जिन लोगों को जोड़ों के दर्द की शिकायत होती है उन्‍हें भी चिरौंजी के फायदे मिल सकते हैं,

क्‍योंकि यह तेल उनके दर्द और सूजन को भी कम करने में प्रभावी होता है।

चिरौंजी खाने के नुकसान:

दिल की धड़कन को बढ़ा सकता है :इस फल में पोषक तत्‍वों की भरपूर मात्रा होने के साथ-साथ

पोटेशियम भी अधिक मात्रा में होता है जो आपके दिल की धड़कनों को नियंत्रित करता है। यदि

आप इसका अधिक मात्रा में सेवन करते हैं तो यह आपके दिल की धड़कन को बढ़ा सकता है जो

आपके स्‍वास्‍थ्‍य के लिए हानिकारक हो सकता है।

दस्‍त : यह सही है कि चिरौंजी आपके शरीर में हाइड्रेशन को बनाए रखने में मदद करता है।

लेकिन यदि आप इसका अधिक मात्रा में सेवन करते हैं तो यह दस्‍त का कारण बन सकता है। यदि

आप एंटीबायोटिक दवाओं और एंटासिड्स जैसी दवाएं ले रहे हैं, तो इससे पाचन तंत्र संबंधी

समस्‍याएं बढ़ सकती है।

लिवर में सूजन : अधिक मात्रा में शराब का सेवन करने वाले व्‍यक्तियों को चिरौंजी के बीजों का

सेवन ज्‍यादा मात्रा में नहीं करना चाहिए। चिरौंजी में उ‍पस्थित लाइकोपीन की अधिक मात्रा शराब

के साथ क्रिया कर सकती है जिसके परिणामस्‍वरूप लिवर की सूजन हो सकती है।


Also Read:- ICC World Cup 2019


Share :
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *