भूलने की बीमारी के उपचार

Share :
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

भूलने की बीमारी के  उपचार

भूलने की बीमारी के उपचार- भूलने की बीमारी जिसे चिकित्सा भाषा में अम्नेसिया (Amnesa)

कहा जाता है एक प्रकार का रोग है जिसमें व्यक्ति को स्मृति हानि होती है और उसे चीजे याद रखने

में कठिनाई का सामना करना पड़ता है। पुरानी चीजों और बातों को भी याद नहीं रख पाते है।

हल्की स्मृति हानि मतलब थोड़ी बहुत भूलने की बीमारी आम है जो उम्र के साथ चलती है परन्तु

अगर किसी व्यक्ति को कम उम्र में भी चीजे याद रखने में समस्या का सामना करना पड़े तो यह

भूलने की बीमारी हो सकती है जो अम्नेसिया कहलाती है।

भूलने की बीमारी के लक्षण :-

  • यदि किसी व्यक्ति को एनोरोग्रेड भूलने की बीमारी है तो उसे नई जानकारी सीखने की क्षमता में परेशानी हो सकती है।
  • जब किसी व्यक्ति को रेट्रोग्रेड भूलने की बीमारी होती है तो उसमें जो लक्षण दिखाई देते है वह यह है की उस व्यक्ति को पिछली घटनाओं और पहले से परिचित जानकारी को याद रखने की क्षमता में परेशानी होती है।
  • अनियंत्रित मूवमेंट और झटके आने का मतलब किसी तरह की न्यूरोलॉजिकल समस्याओं का संकेत हो सकता हैं।
  • भ्रम या भटकाव की स्थिति पैदा हो सकती है।
  • कुछ व्यक्तियों को शार्ट टर्म मेमोरी लोस, पार्शियल मेमोरी लॉस या टोटल मेमोरी लॉस की समस्याएं हो सकती हैं।
  • इस बीमारी से पीड़ित व्यक्ति चेहरे या स्थानों को पहचानने में असमर्थ हो सकता है।

Also Read:- Amazon Vivo Carnival Sale


भूलने की बीमारी का इलाज:-

भूलने की बीमारी के  उपचार

भूलने की बीमारी का इलाज करने के लिए तकनीक का सहारा लिया जा सकता है। वैसे तो कई

प्रकार की भूलने की बीमारी अपने आप ही ठीक हो जाती है परन्तु कुछ अंतर्निहित (underlying)

कंडीशन और रोगों की वजह से इसके इलाज में परेशानी भी हो सकती है। कुछ सामान्य इलाज की

प्रक्रिया में शामिल है.

भूलने की बीमारी के उपचार-व्यावसायिक चिकित्सा द्वारा:-

भूलने की बीमारी के  उपचार

कोई भी व्यक्ति भूलने की बीमारी का इलाज करने के लिए व्यावसायिक चिकित्सक

(occupational therapist) की मदद ले सकता है। इस तरह के इलाज में डॉक्टर व्यक्ति द्वारा

भूल गयी यादों और नाई जानकारियों को वापस लाने में मदद करता है। मेमोरी प्रशिक्षण का भी

उपयोग किया जा सकता है जिसमें जानकारी के आयोजन के लिए अलग-अलग रणनीतियाँ शामिल

होती हैं ताकि याद रखने में आसानी हो और विस्तारित बातचीत की समझ में सुधार हो सके।

भूलने की बीमारी के उपचार-दवाईयां और सप्लीमेंट:-

अभी तक तो अधिकांश प्रकार के भूलने की बीमारी के इलाज के लिए कोई दवा उपलब्ध नहीं है।

लेकिन कुछ बातों का ध्यान रख कर आप भूलने की बीमारी को ठीक करने में थोड़ी मदद कर

सकते है। जिसमें भरपूर पोषक तत्त्व लेना और शराब आदि का सेवन ना करना शामिल है।

भूलने की बीमारी से बचाव :-

भूलने की बीमारी का उपचार और बचाव कुछ संभावित तरीकों से किया जा सकता है, जैसा की

हमने बताया मस्तिष्क को नुकसान पहुंचना ही भूलने की बीमारी का मूल कारण है। इसलिए

मस्तिष्क को चोट से बचाने के लिए आप कुछ महत्वपूर्ण कदम उठा सकते है, जिनमें शामिल

है- शराब का अधिक सेवन करने से बचें। गाड़ी चलाते समय हेलमेट पहनें और ड्राइविंग करते

समय सीट बेल्ट लगायें। मस्तिष्क में हुए किसी भी संक्रमण का इलाज जल्दी से करें ताकि उसे

मस्तिष्क में फैलने का मौका न मिल सके।


Also Read:- बिहार में इंसेफेलाइटिस का कहर




Share :
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *