जौ के फायदे और नुकसान

Share :
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

जौ के फायदे और नुकसान

जौ के फायदे और नुकसान- जौ एक विशेष खाद्य आहार है जिसका उपयोग भारत में प्राचीन

समय से किया जा रहा है। जौ के फायदे आपको कई स्‍वास्‍थ्‍य समस्‍याओं से बचा सकते हैं। जौ का

उपयोग विशेष रूप से जौ की रोटी के रूप में किया जाता है। हालांकि जौ के औषधीय गुणों के

कारण आप इसे कई व्‍यंजनों के रूप में उपयोग कर सकते हैं। जौ खाने के फायदे उच्‍च रक्‍तचाप,

गठिया, अस्‍थमा, नपुंसकता, त्‍वचा समस्‍याओं और हृदय रोगों को दूर करने के लिए कर सकते हैं। 

जौ के पोषक तत्‍व :-

जौ आपके आहार के लिए स्‍वादिष्‍ट और पौष्टिक विकल्‍प होता है। ऐसा इसलिए है क्‍योंकि जौ में

पोषक तत्‍वों की उच्‍च मात्रा होती है। जौ में पाए जाने वाले पोषक तत्‍वों में कार्बोहाइड्रेट, घुलनशील

और अघुलनशील फाइबर, सोडियम, विटामिन, खनिज पदार्थ, अमीनो एसिड और फैटी एसिड

आदि शामिल होते हैं। जौ कोलेस्‍ट्रॉल से मुक्‍त खाद्य पदार्थों की श्रेणी में आता है।

जौ खाने के फायदे:-

जौ खाने के फायदे

1.कोलेस्‍ट्रॉल कम करे:

शरीर में खराब कोलेस्‍ट्रॉल की अधिक मात्रा आपके लिए हानिकारक हो सकती है। खराब

कोलेस्‍ट्रॉल आपकी रक्‍तवाहिकाओं और विशेष रूप से हृदय को नुकसान पहुंचा सकता है।

लेकिन आप नियमित रूप से जौ का सेवन कर कोलेस्‍ट्रॉल की उच्‍च मात्रा को कम कर सकते हैं।

2.वजन कम करे:

यदि आप अपना वजन कम करने का प्रयास कर रहे हैं तो जौ आपकी मदद कर सकता है। जौ में

आवश्‍यक विटामिन और खनिज पदार्थों की अच्‍छी मात्रा होती है। इसके अलावा जौ में फाइबर और

प्रोटीन भी भरपूर होता है जबकि इसमें वसा, कोलेस्‍ट्रॉल और चीनी आदि सामग्री बहुत ही कम होती

है। जिसके कारण जौ का वजन कम करने वाले उत्‍पादों के रूप में उपयोग किया जा सकता है।


Also Read:- 200 करोड़ की शादी


3.कैंसर के लिए:-

जौ खाने के फायदे

जौ घास के साथ ही जौ का नियमित सेवन करना आपको कैंसर के लक्षणों से बचा सकता है। जौ

के साबुत अनाज में फाइटोकेमिकल्‍स सामग्री जैसे फोलेट, फ्लेवोनाइड्स और लिग्नन्‍स होते हैं जो

कैंसर की संभावनाओं को कम करते हैं। 

4.हृदय स्‍वास्‍थ्‍य के लिए:

हृदय संबंधी समस्‍याओं को दूर करने के लिए आप जौ का उपयोग कर सकते हैं।

जौ में नियासिन जो कि एक बी विटामिन है यह अच्‍छी मात्रा में होता है। यह समग्र कोलेस्‍ट्रॉल और

लिपोप्रोटीन के स्‍तर को कम करने और हृदय संबंधी समस्‍याओं को कम करने में सहायक होता है।

5.अस्‍थमा रोगी के लिए:

अस्‍थमा और अन्‍य श्वसन समस्‍याओं वाले रोगी के लिए जौ का नियमित सेवन लाभकारी होता है।

अस्‍थमा रोगी को नियमित रूप से जौ खाने के फायदे अस्‍थमा के लक्षणों को कम करने में मदद

करते हैं। यह एलर्जी आदि के प्रभाव को भी आसानी से दूर कर सकता है।

जौ के नुकसान :-

  • गर्भावस्‍था के दौरान महिलाओं को जौ का अधिक मात्रा में सेवन करने से बचना चाहिए।
  • जौ में ग्‍लूटन की मौजूदगी होती है। जिसके कारण अधिक उपभोग करने से यह सीलियाक बीमारी के लक्षणों को बढ़ा सकता है।
  • जौ के बीज रक्‍त शर्करा को नियंत्रित करने में प्रभावी होते हैं। लेकिन अधिक मात्रा में इनका सेवन करने से मधुमेह रोगी को बचना चाहिए। क्‍योंकि यह शरीर में रक्‍त शर्करा के स्‍तर को बहुत ही निम्‍न स्‍तर पर ले जा सकते हैं।
  • यदि आपको जौ और इस परिवार से संबंधित खाद्य पदार्थों से एलर्जी है तो आपको जौ का सेवन करने से बचना चाहिए।
  • यदि आप किसी विशेष प्रकार की दवाओं का सेवन कर रहे हैं। और औषधीय लाभ के लिए जौ का सेवन करना चाहते हैं तो पहले अपने डॉक्‍टर से अनुमति लें।

Also Read:- गुजरात का ‘ग्रीन मैन’




Share :
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *